Career in Hotel Management

द व‌र्ल्ड टै्रवल एंड टूरिज्म काउंसिल के अनुसार भारत दूसरी सबसे तेज वृद्धि दर्ज करने वाली पर्यटन अर्थव्यवस्था है। आज यह क्षेत्र युवाओं के लिए नए अवसर भी बना रहा है।

पिछले दिनों विश्व प्रसिद्ध कार निर्माता हेनरी फोर्ड के परपोते अलफ्रेड फोर्ड ने भारत में 500 मिलियन अमेरिकी डॉलर निवेश करने की घोषणा की। यह निवेश कार इंडस्ट्री में नहीं होगा, फो‌र्ड्स ने होटल इंडस्ट्री को भारत में निवेश के लिए चुना है। वह भारत के विभिन्न टूरिस्ट डेस्टिनेशंस पर होटल चेन खोलने की योजना लेकर आ रहे हैं, जिसमें पहला होटल हिमाचल प्रदेश में स्काई रिसार्ट के नाम से खोला जाएगा। यह तथ्य भारतीय पर्यटन उद्योग में आए उछाल की ओर सहज ही इशारा करता है।

दुनिया भर के पर्यटकों के लिए अब भारत में ताजमहल और गोवा बीच जैसी जगहों के अलावा भी कई बेहतरीन पर्यटन स्थल मौजूद हैं। नए पर्यटन स्थलों का विकास भी तेजी से हो रहा है। एडवेंचर टूरिज्म, इको टूरिज्म, यहां तक कि मेडिकल टूरिज्म जैसे नए क्षेत्र विकसित हो रहे हैं। द व‌र्ल्ड टै्रवल एंड टूरिज्म काउंसिल के अनुसार चीन के बाद भारत दूसरी सबसे तेज वृद्धि दर्ज करने वाली पर्यटन अर्थव्यवस्था है।

पिछले वित्त वर्ष में पर्यटन क्षेत्र से होने वाली कुल आय 4.8 बिलियन के स्तर तक पहुंच गई, यह सकल घरेलू उत्पाद का 4.47 प्रतिशत है। आंकड़ों पर नजर डालें तो पर्यटन देश में सबसे तेज प्रगति करने वाले क्षेत्रों में एक है। जहां 2003 में इस उद्योग ने 14 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी दर्ज की थी, वहीं 2004 में 24 प्रतिशत की वृद्धि रिकार्ड की गई। हाल में पर्यटन मंत्री रेणुका चौधरी ने अगले तीन वर्ष में इस उद्योग के 10 बिलियन डॉलर के स्तर तक पहुंच जाने की बात कही है। तब पर्यटन विदेशी मुद्रा अर्जित करने वाला सबसे बड़ा क्षेत्र बन जाएगा। रोजगार की दृष्टि से पर्यटन बड़ा ही उपयोगी क्षेत्र है। इसके विकास से न केवल पर्यटन से जुडे़ कामों को बढ़ावा मिलता है, बल्कि पूरा सेवा क्षेत्र इससे प्रभावित होता है। इसकी सबसे बड़ी खासियत है, इस क्षेत्र में उपलब्ध अवसरों की विविधता। पर्यटन क्षेत्र में मौजूद इन्हीं विकल्पों की यहां विस्तार से चर्चा की जा रही है।

टूर एंड ट्रैवल मैनेजमेंट
ट्रैवल एजेंट तथा टूर मैनेजर का काम इस श्रेणी में आता है। टै्रवल एजेंट पर्यटकों को उनकी यात्रा के विषय में हर तरह की जानकारी देता है। उनकी यात्रा संबंधी सभी जरूरतों को पूरा करने की जिम्मेदारी उसी पर होती है। यात्रा टिकट बनाना तथा पर्यटक के रहने खाने की व्यवस्था करना भी इन्हीं के जिम्मे होता है। इसके अलावा ट्रैवल मैनेजमेंट के अंतर्गत पैकेज टूर विकसित करना भी एक महत्वपूर्ण काम है। एक या एक से अधिक पर्यटन क्षेत्रों से संबंधित सभी जानकारियों को इकट्ठा करके, कम से कम खर्च में यात्रा की योजना बनाई जाती है। इसे तैयार करते समय पर्यटकों की रुचि का भी ध्यान रखा जाता है आज बड़ी संख्या में ट्रैवलिंग एजेंसिया खुल रही हैं। टूरिज्म से जुड़ी कई बहुराष्ट्रीय कंपनियां भी भारत में अपने केंद्र खोल रही हैं। इन सभी में ट्रैवल एजेंट, कस्टमर केयर एक्जीक्यूटिव तथा मैनेजर बड़ी संख्या में काम कर रहे हैं। इस क्षेत्र में काम करने के लिए टूर एंड टै्रवल अथवा टूरिज्म में डिप्लोमा होना चाहिए। इसकी अवधि छह माह से एक वर्ष के बीच होती है। इन पाठयक्रमों में प्रवेश के लिए योग्यता बारहवीं है। कुछ विश्वविद्यालयों में टूर एंड ट्रैवल में बीए पाठयक्रम भी उपलब्ध है।

होटल मैनेजमेंट
यात्रा के दौरान पर्यटकों का बसेरा होटल होते हैं। वहां के रखरखाव तथा खान पान की पूरी व्यवस्था के लिए वहां मुस्तैद होते हैं होटल मैनेजर्स। होटल में रहने के दौरान यात्री की सभी सुविधाओं का ध्यान ये ही रखते हैं। हमारे देश में होटलों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, पर्यटन ही नहीं व्यापारिक यात्राओं की दृष्टि से भी ये काफी उपयोगी होते जा रहे हैं। विश्व स्तरीय सुविधाओं से युक्त इन होटलों में होटल मैनेजरों की काफी मांग है। होटल मैनेजमेंट प्रबंधन की एक विशिष्ट शाखा है। इसकी पढ़ाई कई प्रतिष्ठित संस्थानों में होती है। भारत सरकार द्वारा देशभर में 24 होटल मैनेजमेंट इंस्टीटयूट चलाए जा रहे हैं, जहां बीएससी होटल मैनेजमेंट पाठयक्रम संचालित किए जाते हैं। इनमें प्रवेश के लिए राष्ट्रीय स्तर पर संयुक्त प्रवेश परीक्षा का आयोजन होता है। इसके अलावा कुछ संस्थान स्वतंत्र रूप से भी परीक्षा एवं साक्षात्कार आयोजित करते हैं। कुछ निजी संस्थानों में 10+2 के अंकों के आधार पर भी नामांकन होता है। इसके अलावा कैटरिंग टेक्नोलॉजी एवं बेकरी मैनेजमेंट से संबंधित डिग्री तथा डिप्लोमा कोर्स भी उपलब्ध हैं।

एयर फेयर एंड टिकटिंग
पर्यटन के क्षेत्र में हवाई यात्राओं का बड़ा महत्व है। उस स्थिति में तो यह और बढ़ जाता है, जब बड़ी संख्या में विदेशी सैलानी देश में आ रहे हों। हवाई यात्रा के टिकट आरक्षण के लिए कंप्यूटर के कई सॉफ्टवेयरों का इस्तेमाल होता है। शुरू में तो कंप्यूटर का इस्तेमाल एयर टिकट की बुकिंग के लिए होता था लेकिन आजकल बस तथा यातायात के दूसरे साधनों की बुकिंग के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल होता है। इन सभी कामों को अंजाम देते हैं टिकटिंग के विशेषज्ञ। एयर फेयर एंड टिकटिंग के सर्टिफिकेट तथा डिप्लोमा कोर्स कई निजी संस्थानों में संचालित किए जा रहे हैं। इन पाठयक्रमों में प्रवेश के लिए न्यूनतम योग्यता 10+2 है। इसके साथ अभ्यर्थी को अंग्रेजी का अच्छा ज्ञान होना चाहिए।

टूरिस्ट गाइड
टूरिस्ट गाइड पर्यटन के आनंद को दुगुना कर देता है। यात्रा के दौरान साथ घूमता हुआ, वह पर्यटक को उसकी अपनी भाषा में सारी जानकारियां देता है। पहले तो अंग्रेजी या हिंदी भाषी टूरिस्ट गाइड ही होते थे और इसे बड़ा लो प्रोफाइल जॉब माना जाता था, लेकिन अब ऐसी स्थिति नहीं है। इधर विदेशी पर्यटकों की संख्या बढ़ने से विदेशी भाषा के टूरिस्ट गाइड बड़े महत्वपूर्ण हो गए हैं। ट्रैवलिंग एजेंसियां बड़े पैमाने पर विदेशी भाषा के जानकारों की सेवाएं ले रही है। अंगे्रजी तथा अन्य विदेशी भाषाओं के प्रशिक्षण के लिए कई संस्थान कोर्स संचालित कर रहे हैं। इन पाठयक्रमों की अवधि एक से तीन वर्षो के बीच होती है। दूतावासों के अंतर्गत भी उस देश की भाषा के प्रशिक्षण पाठयक्रम चलाए जाते हैं। कुछ विश्वविद्यालय विदेशी भाषाओं में स्नातक पाठयक्रम भी संचालित करते हैं। इनमें जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी, दिल्ली यूनिवर्सिटी, पूना यूनिवर्सिटी इत्यादि प्रमुख है। टूरिज्म उद्योग के लिए अंग्रेजी के अलावा स्पैनिश, फ्रेंच जर्मन, इटालियन,जैपनीज, कोरियन जैसी भाषाएं भी काफी महत्वपूर्ण है।
उपरोक्त सभी क्षेत्र टूरिज्म से सीधे जुड़े हुए हैं। पर्यटन व्यवसाय में तेजी के कारण जहां ये क्षेत्र अर्थव्यवस्था को मजबूती दे रहे हैं, वहीं युवाओं के लिए नए अवसर भी बना रहे हैं।

टै्रवल और टूरिज्म से संबंधित सर्टिफिकेट व डिप्लोमा पाठयक्रम कई संस्थानों द्वारा संचालित हो रहे हैं। इनमें से कुछ की सूची यहां प्रस्तुत है-

टै्रवल एंड टूरिज्म
इंडियन इंस्टीटयूट आफ टूरिज्म एंड ट्रैवल मैनेजमेंट, 9, न्याय मार्ग, चाणक्य पुरी नई दिल्ली-110021,फोन: 011-26118280
स्काईलाइन बिजनेस स्कूल हौज खास इनक्लेव, नई दिल्ली-110016,फोन: 011-26866968, 26864848 ई-मेल : info@skylinecollege.co m 
कालेज आफ वोकेशनल स्टडीज, दिल्ली विश्वविद्यालय, शेख सराय, दिल्ली, फोन: 26438544, 26428792
वाईडब्लूसीए/वाईएमसीए 1, जयसिंह रोड, नई दिल्ली फोन : 23360501,23361915
इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय मैदान गढ़ी, नई दिल्ली
कनोई एकेडमी आफ ट्रैवल 1002-1003, नई दिल्ली हाउस, 27 बाराखंभा रोड नई दिल्ली फोन: 011-23736268
एनआईएस एकेडमी एम-14, कुतुब इंस्टीटयूशनल  एरिया, नई दिल्ली ई-मेल : info@iipm.edu

विदेशी भाषा के संस्थान
जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
डिपार्टमेंट आफ रोमानसिक एंड जर्मनिक स्टडीज, कला संकाय, दिल्ली विश्वविद्यालय नई दिल्ली-110007 फोन: 011-27667099
एलियन फ्रेंसिस डी-13, साउथ एक्स पार्ट-द्यद्य, नई दिल्ली-110049, फोन: 011-26251404,ई-मेल: afdelhi@ afdelhi.org 
इन लिंगुआ एन-12, फ‌र्स्ट फ्लोर, साउथ एक्स पार्ट-द्य, नई दिल्ली-110049, फोन: 011-24646265, ई-मेल: inlingua@vsnl.com
वेबसाइट : www.inlingua.com
लिंगोसिस 11, हरगोविंद इनक्लेव, सेकेंड फ्लोर, मेन विकास मार्ग, नई दिल्ली-110092, फोन: 011-22377902, 22377903
निहोंगो सेंटर जी-13, सेकेंड फ्लोर, हौज खास, नई दिल्ली-110016 फोन: 011-26562841, ई-मेल: nihongo@ hotmail.com वेवसाइट : www.nihongoindia .com स्कूल ऑफ फॅारेन लैंग्वेजेज 48, रिंग रोड, लाजपत नगर पार्ट-2, नई दिल्ली-110024, फोन:011-269322771
मैक्समूलर भवन 3, कस्तूरबा गांधी मार्ग, नई दिल्ली फोन: 011-23319506
जैपनीज कल्चरल सेंटर 32, फिरोजशाह रोड, नई दिल्ली, फोन : 011-23329838
स्कूल ऑफ लैंग्वेजेज 25, लोधी स्टेट कस्तूरबा गांधी मार्ग, नई दिल्ली, फोन: 011-24619222
भारतीय विद्या भवन कस्तूरबा गांधी मार्ग, नई दिल्ली
इरान कल्चरल सेंटर 18, तिलक मार्ग, नई दिल्ली फोन: 011-23383232
इंस्तीटयूतो इस्पानिया डी-59, मेन मार्केट, हौज खास नई दिल्ली फोन: 011-26968016/43 ई-मेल : info@institutohis pania.com  वेबसाइट : www.institutohispania. com
इटालियन एंबेसी कल्चरल सेंटर, 50-ई, चंद्रगुप्त मार्ग नई दिल्ली फोन: 011-26871901
हंगेरियन कल्चरल सेंटर 1-ए, जनपथ, नई दिल्ली फोन:011-23011152
पुर्तगीज कल्चरल सेंटर 8 गेट-बी, ओल्ड पालम मार्ग, वसंत विहार, नई दिल्ली फोन:011-26142212
रसियन साइंस एंड कल्चरल सेंटर, 24, फिरोज शाह रोड नई दिल्ली फोन:011-23329102 ई मेल : culture@del2.vsnl.in वेब साइट: www.rcsc.org.in

होटल मैनेजमेंट
इंटरनेशनल इंस्टीटयूट आफ होटल मैनेजमेंट एक्स-1, 8/3 साल्ट लेक, सेक्टर-5, साल्ट लेक इलेक्ट्रानिक कांप्लेक्स कोलकाता-700091 फोन: 033-23577550
इंस्टीटयूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, लाइब्रेरी एवेन्यू, पूसा कांप्लेक्स नई दिल्ली-110012 फोन:011-25787411 ई-मेल: ihm@vsnl.net
दिल्ली इंस्टीटयूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, लेडी श्रीराम कालेज के पीछे, लाजपत नगर नई दिल्ली-110024 फोन:011-26435883 ई-मेल: ihm1jpn@yahoo.com
इंस्टीटयूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, भिंड रोड, महाराजपुरा पोस्ट आफिस ग्वालियर-474002 फोन:0751-2471250 ई-मेल: ihmgwl@sancharnet .com
इंस्टीटयूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, बानी पार्क थाना, शिकार रोड जयपुर-302016 फोन:0141-2202812, ई-मेल : ihmjpr@jp1. dot.net.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *