विकास शुल्क पर भड़के छात्र

राजकीय नंदकिशोर पटवारी पीजी महाविद्यालय में परीक्षा फार्मो के साथ वसूले जा रहे विकास शुल्क पर छात्र भड़क उठे। शुक्रवार सुबह विकास शुल्क वसूली बंद करने की मांग पर छात्रों ने कालेज में हंगामा शुरू कर दिया।

छात्रों ने कालेज प्रशासन के विरुद्ध जमकर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। छात्र नेता सतपाल ढिलाण ने बताया कि कालेज में परीक्षा फार्म के साथ छात्रों ने एक सौ रुपए विकास शुल्क वसूला जा रहा है। पिछले दो वर्ष से विकास शुल्क के नाम पर छात्रों को लूटा जा रहा है। प्राइवेट छात्रों से भी विकास शुल्क वसूली से छात्रों में गहरा आक्रोश है। छात्र राजेश कुमार ने बताया कि प्राचार्य को पिछले दिनों विकास शुल्क वसूली बंद करने के लिए ज्ञापन दिया गया था।

ज्ञापन में छात्रों ने बताया था कि गरीब परिवारों के छात्र महाविद्यालय में परीक्षा देते हैं। ऐसे में छात्रों से विकास शुल्क के नाम पर वसूली को बंद किया जाना चाहिए। दोनों छात्र नेताओं ने कहा कि विकास शुल्क वसूली के लिए कमेटी में शामिल लोगों ने छात्र हितों की परवाह किए बिना वसूली को मंजूरी दे दी। छात्रों के हंगामे व नारेबाजी के बाद कालेज प्रशासन की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची। कालेज में पाटन व नीमकाथाना पुलिस को तैनात किया गया।

आक्रोशित छात्रों ने बाद में प्राचार्य को ज्ञापन दिया, जिसमें विकास शुल्क वसूली बंद करने, अनुसूचित जाति जनजाति के छात्रों को बकाया छात्रवृत्ति दिलाने, कालेज की गतिविधियों में छात्र प्रतिनिधियों को शामिल करने, छात्र शुल्क व खेल शुल्क का विवरण देने, छात्रों के लिए कालेज में सुविधाओं को फिर से शुरू करने की मांग की गई। प्राचार्य के साथ हुई छात्र नेताओं की वार्ता के बाद भी छात्रों को गुस्सा शांत नहीं हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *