बीसीए ने सचिन को सम्मानित किया

बड़ौदा क्रिकेट संघ (बीसीए) ने गुरुवार को यहाँ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पाँचवाँ एकदिवसीय मैच शुरू होने से पहले मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर को अपने चार सौवें एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में उतरने पर सम्मानित किया।

बीसीए के अध्यक्ष चिरायु अमीन मैच के पहले आयोजित एक संक्षिप्त समारोह में सचिन को सम्मान स्वरूप चाँदी की एक पट्टिका भेंट की। गौरतलब है कि सचिन 400वाँ वनडे खेलने वाले केवल दूसरे खिलाड़ी हैं। इससे पहले श्रीलंका के सनत जयसूर्या इंग्लैंड के खिलाफ 400 वनडे खेलने का करिश्मा कर चुके हैं।

उधर दक्षिण अफ्रीका में खेले गए पहले ट्वेंटी-20 क्रिकेट विश्वकप में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले इरफान और यूसुफ पठान बंधुओं को भी इस अवसर पर सम्मानित किया गया। दोनों भाईयों को बीसीए ने इनाम स्वरूप 11-11 लाख रुपए का चेक प्रदान किया।

मास्टर ब्लास्टर के तेवर

अमूमन किसी आलोचना का पलट कर जबाव नहीं देने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर ने आखिरकार वडोदरा में मुंह खोल ही दिया।

उनके तेवर कुछ इसप्रकार थे-

टीवी पत्रकार : आपको नहीं लगता कि आपका कैरियर उपर जाने के बजाय नीचे जा रहा है?
सचिन : जाइए और रिकॉर्ड बुक में तलाशिए।

एक अन्य पत्रकार : 400 वां वनडे खेलेंगे, कैसा लग रहा है?
सचिन : सामान्य, 400 तो एक आंकड़ा मात्र है। मेरे लिए इस कठिन सीरीज में बढ़िया प्रदर्शन करने की चुनौती है।

एक और पत्रकार : वेंगसरकर के बयान पर कोई प्रतिक्रिया ?
सचिन : मैं विवादों में पड़ना नहीं चाहता हूं। हां, यह जरूर कहूंगा कि किसी भी खिलाड़ी का प्रदर्शन देखना चाहिए, उम्र नहीं।

पत्रकार : कोई महत्वपूर्ण मैच?
सचिन : 1. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हीरो कप (1993) सेमीफाइनल मैच जब मैंने आखिरी ओवर गेंदबाजी की थी 2. पाकिस्तान के खिलाफ 2003 का वल्र्ड कप मैच।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *